50/20/30 Budget Rule

हेलो जी, कैसे हैं आप सब ? आज मैंने Online एक कमाल की चीज़ पढ़ी , वैसे तो ये मैं पहले से जानता था लेकिन इसके बारे में लिखना चाहिए ये दिमाग में नहीं था। फिर जब आज ब्लॉग के लिए research करने बैठा तो हाथ लगा यह कमाल का Rule जिसे कहते है 50/20/30 Budget Rule. यह नियम आपको और ख़ासतौर पर जो नयी नयी नौकरी पर लगे है उन्हें मालूम होना चाहिए। देखिये Salary आते ही हम लोग सबसे पहले वो चीज़ खरीदते है जो हमारे Amazon के cart में या wishlist में होती है और सैलरी ख़र्च करना का ये तरीका इतना गलत है की महीने के आख़िरी दिन गुज़ारने मुश्किल हो जाते है , हैं न? इसलिए मैंने सोचा की आपको इस नियम के बारे में आज बताऊँ।

Budget का 50/20/30 नियम बहुत simple है और इसे बताने से पहले मैं आपको कहना चाहता हूँ की पैसे की जितनी इज़्ज़त करोगे पैसे उतनी ही तुम्हारी इज़्ज़त करेंगे। अगर पैसों को हाथ का मैल समझोगे तो पैसे भी तुम्हारे साथ वैसा सलूक करेंगे। कुछ लोगों के मुँह से आपने सुना होगा ‘पैसों का क्या है आज यहाँ कल वहाँ’ और ऐसा आदमी कभी अमीर नहीं बन पता है। देखिये पैसे को लेकर उदार होना या humble होना अच्छी बात है लेकिन पैसे या Money को disrespect नहीं करना चाहिए। इसके बारे में आप मेरे पिछली ब्लॉग Let’s Talk About Money में भी पढ़ सकते है।

चलिए अब आते है नियम पर। नियम बहुत सीधा सा है और कुछ ऐसे है –

50 –

आप सैलरी का 50% अपनी ज़रुरत की चीज़ों पर खर्च करे , जैसे किराया, बिजली का बिल , राशन वगैरह। यह आपकी ज़रुरत वाले ख़र्चे है जो हर महीने होते ही होते है। अगर आपके महीने के ख़र्चे सैलरी के 50% से कम है तो बचा हुआ amount save कर ले।

20 –

आपकी कमाई का 20% आपकी बचत यानि Savings में जाना चाहिए जैसे SIP , RD, Gold etc. ध्यान रहे की savings या investment के पैसे आपको महीने की शुरुआत में ही निकाल कर अलग रख देने है invest करने के लिए। क्यूंकि महीने के आखिर तक तो पैसे बचते ही नहीं। अगर आप शुरुआत में पैसे नहीं निकाल पाए तो Savings Zero रहेंगी जो आपको आगे भविष्य में दिक़्क़त देगा। इसे आप ऐसे ले कर चलिए की आपको नया Laptop लेना है तो बजाय इसके की आप उसे EMI पर ले ऐसा करे की पहले ही थोड़ा थोड़ा पैसा जोड़े और फिर उससे ख़रीदे। इस तरह की savings को short term savings कहते है। Long Term जैसे घर या कार या विदेश यात्रा जैसी इच्छाओं के लिए भी थोड़ा पैसा save करते रहे।

30 –

हर आम इंसान के कुछ शौक भी होते है और इसलिए सैलरी का 30% आपको अपने शौक पर ख़र्च करना है, जैसे घर से बाहर खाना खाना, gym की membership, netflix और prime की membership. अगर आपके शौक कम है तो बहुत अच्छी बात है बचा हुआ पैसा savings में लगा दे।

यहाँ यह सब बताने का फंडा सिर्फ इतना सा है की आप कर्ज़ों के चक्रव्यूह में फंस न जाये। मैंने बहुत से लोगो को देखा है जो Credit Card हाथ में लेते ही ख़ुद को अम्बानी समझने लगते है और अगर आप भी इन्ही लोगों में से एक है तो संभल जाईये। Credit Card को अगर सही से इस्तमाल नहीं किया तो पूरी कमाई इसी में निकल जाएगी।

नोट – ऊपर जो बातें बताईये है उनका ध्यान रखे लेकिन फिर भी पैसा आपका, मर्ज़ी आपकी।

Advertisements

Leave a Reply