How To Be Mentally Strong?

Mentally Strong !!! लेकिन आखिर इसका मतलब क्या है? देखिये शरीर की कसरत तो आप लोग करते ही होंगे, दिमाग़ भी आपका strong होगा लेकिन मन का क्या? यहाँ पर Mentally Strong होने का मतलब दिमाग से न हो कर मानसिक रूप से मज़बूत होने पर है। Mentally Strong कैसे हो ये जानने के पहले आपको यह जानना चाहिए की Mentally Weak लोगों के लक्षण क्या है ? कैसे पता करे की कोई मानसिक तौर पर कमज़ोर है ? जितना मैंने इसके बारे पढ़ा और समझा है उसके हिसाब से मानसिक रूप से कमज़ोर लोगों की कुछ निशानियाँ होती है जैसे –

  • यह Center Of Attention बनना चाहते है, ऐसे लोगो को लगता है की सब उन्हें पसंद करें। ये लोग, दूसरों की नज़रों में आना चाहते है फिर चाहे इसके लिए कुछ भी करना पड़े। छोटा सा उदहारण देता हूँ, ऐसे लोग चिल्ला चिल्ला कर बात करते है , इन्हे कोई medical condition नहीं है। ये इसलिए इस तरह से बात करते है ताकि बाकी लोगों का ध्यान इन पर जाये।
  • मानसिक तौर से कमज़ोर लोग, इंतज़ार नहीं कर सकते क्यूंकि सच बताऊ तो Patience यानी धैर्य सब के बस की बात नहीं। मानसिक रूप से कमज़ोर आदमी को सब कुछ तुरंत चाहिए। उसे ऐसा लगता है की उसकी पहली ही नौकरी में उसे लाखों रूपये मिल जायेंगे या पहला व्यापार उसे Tata, Birla या Ambani बना देगा।
  • Mentally Weak लोग हार बहुत जल्दी मान लेते है और इसी वजह से ये ज़्यादा कुछ सीख नहीं पाते ।
  • मानसिक तौर पर कमज़ोर लोग मन ही मन दूसरों का बुरा सोचते है। पडोसी अगर नयी कार ले ले तो सोचते है की accident हो जाये। इस तरह के लोग अपने दिन का ज़्यादातर समय दूसरों को गिराने के बारे में सोचते रहते है।
  • सबसे बड़ी बात, मानसिक रूप से कमज़ोर आदमी कभी अकेला नहीं रह सकता। उसे हमेश अपने आस पास लोग चाहिए। वो चाहे खुद चुप रहे लेकिन आस पास में लोग होने चाहिए।
  • मानसिक रूप से कमज़ोर आदमी की इच्छा शक्ति बहुत काम होती है और वो तुरंत दूसरों की बातों में आ जाता है। उसे लगता है की ये जो कह रहा है वो भी सही है और वो जो कह रहा है वो भी सही है। ऐसे लोगों के पास अपना खुद का दिमाग़ या तो होता नहीं या लगाते नहीं।
  • Mentally Weak बन्दे उस चीज़ से संतुष्ट नहीं हो पाते जो उनके पास है। अगर उनके पास 10 एकड़ में आम का बगीचा ही लेकिन सामने वाले के हाथ में सिर्फ एक संतरा हो तो उन्हें वो संतरा चाहिए। ऐसे लोगों को कभी कोई खुश भी नहीं कर सकता।
  • मानसिक रूप से कमज़ोर लोगों को लगता है की वो बहुत ज़्यादा चालक है लेकिन असल में बाकी लोग उनसे दूर रहना पसंद करते है।

तो यह कुछ लक्षण है मानसिक रूप से कमज़ोर लोगों के। अगर आप इनमे से एक है या किसी को जानते है जो इन points पर fit बैठता है तो मैं आपको बता दू की मानसिक रूप से कमज़ोर होना कोई बुरी बात नहीं है। इसे ठीक किया जा सकता है और यह ब्लॉग पोस्ट इसी के बारे में है। Mentally Strong होना आसान नहीं है इसलिए मैं आप को जो बताने वाला हूँ उन्हें मन से follow कीजियेगा। यह बातें आपके भले के लिए ही है।

Mentally Strongकैसे हो? अगर आप Mentally Strong चाहते है तो मैं शुरुआत में आपको सिर्फ 4 बातें बताऊंगा जिन्हे आपको ध्यान रखना है –

  • सबसे पहले और बहुत ज़रूरी अकेला रहना सीखिए , Alone Time Spend कीजिये और खुद से बातें कीजिए। अगर आप खुद से बातें नहीं करते तो आप एक बहुत शानदार बन्दे का साथ खो रहे है।
  • दूसरों के जीतने पर खुश होइए – देखों आपके नसीब का कोई छीन नहीं सकता और न आप किसी के भाग्य का। तो बजाय इसके की सामने वाले की सफलता पर आप मातम मनाये आपको उसके लिए खुश होना चाहिए और जब आप जीते तो बजाय इसके की आप सामने वाले को चिढ़ाए उसे अपनी ख़ुशी में शामिल कीजिये। ऐसा करके देखिये, बहुत अच्छा लगता है।
  • बदलाव को स्वीकार करिए – Mentally Strong लोग situations के बदलने पर घबराते नहीं है बल्कि उन्हें स्वीकार करके उनके हिसाब से भविष्य की तैयारी करते है।
  • Past के बारे में ज़्यादा नहीं सोचते – एक समय था जब आप पतले और handsome थे लेकिन आज आपकी सेहत जवाब दे रही है और आप आधे टाइम अपनी पुरानी तस्वीरों को देखे जा रहे है तो ऐसा करके कुछ नहीं मिलेगा। भूल जाईये past और नहीं भूल सकते तो पतला होने के लिए कुछ करिये। अपने कुछ तरस खाने से कुछ नहीं होगा।

यह चारों बातें धीरे धीरे काम में लाना शुरू कीजिये।

मानसिक रूप से कमज़ोर लोगों के जानने वाले बहुत हो सकते है लेकिन उनके सच्चे दोस्त बहुत ही कम होते है।

मनाली

मेरी पहली Solo Trip की फोटो। कभी अकेले घूम कर दिखिए, दुनिया अलग दिखती है।

Advertisements

Leave a Reply