Passion vs Obsession

नमश्कार, कैसे है आप लोग? मैं एक बार फिर से नया पोस्ट लेकर आ गया हूँ और आज हम जिसके बारे में बात करने वाले है उस topic में मेरा बहुत interest है, Passion vs Obsession. Passion और Obsession में बहुत बारीक़ फर्क है जो अक्सर लोग समझ नहीं पाते है। कई बार उन्हें उनका passion, obsession लगता है और कई बार अपने obsession को passion बताते है। इस पोस्ट में पहले मैं आपको दोनों के बीच का अंतर समझाऊँगा और उसके बाद बताऊंगा की आप कैसे पता करे की आपका Passion क्या है?

Passion – Passion किसी व्यक्ति, वस्तु या चीज़ को लेकर एक strong emotion होता है जिसे आप control कर सकते है। चलिए इसे समझते है , मान लीजिये की आपको painting का शौक है और आप खाली समय में paint करना पसंद करते है। आप एक दिन में तीन – तीन घंटे painting में लगा देते है। आपने painting के सामान के लिए काफी पैसे ख़र्च किये, painting सीखने के लिए classes भी ली। यानी की painting को लेकर आपके अंदर एक strong emotion है। अब मान लीजिये की आपके घर कोई रिश्तेदार 10 दिन रहने के लिए आया और इस वजह से आप painting को उतना समय नहीं दे पा रहे जितना आप देना चाहते है लेकिन फिर भी आप इस नयी व्यवस्था से परेशान नहीं है। आपने खुद को समझाया की कोई बात नहीं , painting 10 दिन के बाद कर लेंगे। यह होता है passion. इसे आप control कर सकते है और Passion आपको एक बेहतर इंसान बनाता है।

Obsession – Obsession किसी व्यक्ति, वस्तु या चीज़ को लेकर एक strong emotion होता है जिसे आप control नहीं कर सकते है। ऊपर वाली situation ही लेते है। आपके घर रिश्तेदार आये और अब आप 10 दिन तक painting नहीं कर सकते। अब Obsession की condition में आप धीरे धीरे frustrate होना शुरू होंगे। आप 24 घंटे सिर्फ painting के बारे में सोचते रहेंगे और बाकी का time enjoy नहीं कर पाएंगे। Painting की आदत एक लत बन चुकी होगी और आप को अपने रिश्तेदार से नफ़रत होने लगेगी की वो क्यों आपके घर आये। इस तरह के uncontrollable emotions को Obsession कहते है। Obsession एक negative emotion है और अगर आप किसी चीज़, वस्तु या इंसान को लेकर obsessive है तो यह आपके और आपके आस पास के लोगो के लिए हानिकारक है।

अगर ऊपर लिखी बातों को पढ़ कर आप को यह समझ में आ गया की आप किसी चीज़ को लेकर obsessive है और आपको इसे ठीक करना है तो यह करने के कुछ तरीके है –

  • कुछ नया या अलग करने की कोशिश करिये, कुछ नया सीखिए।
  • खाली दिमाग शैतान का घर, इसलिए खाली बैठने के बजाय कुछ पढ़िए या किसी दोस्त से फ़ोन पर बात करिये या फिर टहलने निकल जाइये।
  • List बनाइये की आपके obsession से आपको कितना नुक्सान और कितना फायदा हो रहा है। इससे आपको अपने obsession को छोड़ने में मदद मिलेगी।
  • Favorite songs की list बनाइये और जब भी बेचैनी लगे तो उसे सुनिए। इससे आपका mood अच्छा रहेगा।
  • जिस चीज़ को लेकर obsession है, जितना हो सके उसके बारे में काम सोचिये।

Obsession की बात तो हो गयी अब Passion की बात करते है, कैसे पता करे की आखिर आपका passion क्या है जिसे career बना सके ? इसे जानने के लिए आपको एक सीधे से सवाल का जवाब देना है, “मान लो की अगर दुनिया में पैसा नाम की चीज़ ख़तम हो जाये, बैंक अकाउंट की value न हो और currency note चलना बंद हो जाये तो मुझे बताओ वो कौन सी चीज़ होगी जिसे आप अपनी पूरी ज़िन्दगी करना चाहेंगे ?

For Example अगर आप एक बैंक में accounts department में काम करते है लेकिन ऊपर दिए सवाल का जवाब आपने दिया है खाना बनाना या डांस करना। तो यही आपका Passion और मेरे हिसाब से आपको इससे ज़्यादा ख़ुशी मिलती है और आपको इस पर ध्यान देना चाहिए !!!

Advertisements

Leave a Reply