पाँच बातें जो आपको Depression के शिकार व्यक्ति से कहनी चाहिए

हेलो दोस्तों, कैसा है आप लोग? उम्मीद करता हूँ की आप सब ठीक होंगे। रविवार को सुशांत सिंह राजपूत के बारे में सुन कर बहुत बुरा लगा। उन्हें देख कर लगता ही नहीं था की वो मानसिक अवसाद यानी depression के शिकार होंगे और सच बताऊ तो आप कभी भी किसी को देख कर यह नहीं बता सकते की वो depressed है या नहीं और देखा जाए तो हम लोग depression को seriously नहीं लेते है। अगर हमें हमारा कोई दोस्त ये कहे की वो depression में है तो हम उसे ऐसे treat करते है जैसे की कोई मज़ाक हो। और ऐसा होने के बाद वो दोस्त हम से अपनी बात share नहीं करता और हमें लगता है की वो ठीक हो गया है। इसलिए मैं अपनी इस blog के ज़रिये आपको पाँच ऐसी बातें बताने वाला हूँ जो आपको किसी depressed व्यक्ति से बिलकुल नहीं कहानी चाहिए।

  1. Depression के मरीज़ को यह कभी मत कहो की चलो भूल जा यह सब बाते और काम पर ध्यान दे बल्कि आपको उससे कहना चाहिए की I am sorry की तुम इस situation में हो, क्या मैं तुम्हारी कोई मदद कर सकता हूँ?
  2. उससे कभी नहीं कहना चाहिए की यह सब बातें तुम्हारे दिमाग की फितूर है, इसके बारे में सोचना छोड़ दो सब ठीक हो जायेगा इसकी जगह पर आप कह सकते है की मैं सच में तुम्हारी बातों को समझना चाहता हूँ। क्या तुम मुझे अच्छे से बता सकते हो की तुम्हारे mind में क्या चल रहा है ?
  3. Depressed बंदे से यह नहीं कहना चाहिए की जो तुम्हारे साथ हो रहा है वो उतना भी बूरा नहीं है, बहुत सारे लोग तो इससे भी ख़राब हालात से गुज़र रहे है बल्कि आपको उनसे कहना चाहिए की मैं समझ सकता हूँ की तुम कितनी कोशिश कर रहे हो इन सब से बाहर निकलने की और इस बात के लिए मैं तुम्हारी इज़्ज़त करता हूँ। तुम सच में एक मज़बूत शख़्सियत हो।
  4. उनसे कभी मत कहो की तुम हमेशा ही रोते रहते हो अपनी problems के बारे में बताते रहते हो, छोडो यह सब। आपको कहना चाहिए की मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूँ और तुम अपनी सारी problems के बारे में मुझे बता सकते हो। मैं तुम्हारी बात बिना किसी judgment के सुनूंगा।
  5. कभी नहीं कहो की तुम तो depressed दिखते भी नहीं हो, नाटक कर रहे हो क्या ? इसकी जगह आपको उनसे कहना चाहिए मुझे लगा की तुम नार्मल हो, I am sorry . तुम मुझ से अपनी बात कह सकती हो।

आपको पता है की एक व्यक्ति अपने दिल की बात दूसरों को इसलिए नहीं बताता क्यों की उसे लगाता है लोग उसे Judge करेंगे। मैं आपसे कहना चाहता हूँ की अगर आप ऐसी किसी situation से गुज़र रहे है तो इसके बारे में किसी अपने से बिना संकोच के बात कीजिये और अगर कोई नहीं है तो मुझसे इस blog के ज़रिये बात कर सकते है। चलिए मैं आपको वो बात बताता हूँ जो मैं खुद से तब कहता हूँ जब मैं किसी tension में होता हूँ ” ज़िन्दगी ने अब तक जितनी problems दी है मैंने उन सभी को पार किया है, उन सभी से मैं जीता हूँ। मैं अपनी इस problem से भी जीतूंगा और आगे बढूंगा। ”

Leave a Reply