Watch Your Words Before You Speak

हिंदुस्तान में एक बात कही जाती है की बोलने से पहले सोचो क्यूंकि दिन में एक बार सरस्वती जी ज़बान पर बैठती है और आपकी वो बात सच हो सकती है। यह बात आपने सुनी कई बार होगी लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया होगा। लेकिन अगर आप Law Of Attraction को इसके साथ मिला दो तो आपको इस की ताक़त समझ में आएगी।

Law Of Attraction भी यही कहता है की जो आप बोलते हो या जिसके बारे में ज़्यादा सोचते हो वही बातें आपके साथ होने लगती है। LOA का मानना है की Universe एक restaurant के menu की तरह है जिसमे आप जो चीज़ order करना चाहे उसे कर ले। चीज़ो को order करने का तरीका भी बहुत simple है, आप Universe से कहिये की आपको वो चीज़ चाहिए और फिर believe कीजिये की आपके पास वो चीज़ आ गयी है। इसे मैं science के साथ आपको समझाता हूँ , science कहता है की दुनिया में हर चीज़ एक frequency पर vibrate करती है फिर चाहे वो Atom हो या Space में Black Hole . सबकी कोई न कोई frequency होती है और Law Of Attraction भी यही है। LOA के हिसाब से जब आप किसी चीज़ में believe करने लगते हो तो आप भी उसी frequency पर vibrate करने लगते हो जिस frequency पर वो चीज़ होती है और उसके बाद वो चीज़ हक़ीक़त में आपके पास होती है। उदाहरण के लिए अगर आपको कार चाहिए तो आप यूनिवर्स को बोलिये की “मुझे एक कार चाहिए। ” इतना कहने के बाद आप इसमें believe कीजिये की आपके पास वो कार आ गयी है। Imagine कीजिये की वो कार आपके घर के बाहर खड़ी है। Visualize कीजिये कार के अंदर का Interior और सोचिये की कार के आने के बाद आप कहाँ कहाँ घूमने जायेंगे। आपकी visualization जितनी perfect होगी कार उतनी जल्दी आपके पास आ जाएगी।

Law Of Attraction और पुराने धार्मिक serials जैसे रामायण और महाभारत में एक बात common है। जैसे महाभारत में राक्षस तपस्या करके ब्रह्मा जी से वरदान मांगते और ब्रह्मा जी कहते थे “तथास्तु” यानि ऐसा ही होगा। LOA के हिसाब से Universe भी यही कहता है, universe को नहीं पता की आप अच्छा मांग रहे है या बुरा वो तो बस कहता है ऐसा ही होगा। इसीलिए अगर आप हमेशा यही कहते रहे है की “मेरे पास कार नहीं है , मेरे पास कार नहीं है। ” तो Universe कहेगा…. ऐसा ही होगा और आप के पास सच में कार नहीं होगी।

अब इस ब्लॉग की सबसे पहली लाइन पढ़िये जो मैंने लिखी है की हिंदुस्तान में लोगो का मानना है की दिन में एक बार ज़बान पर सरस्वती जी आती है इसलिए सोच समझ कर बोलना चाहिए और same यही बात Law Of Attraction भी कहता है। इसलिए हमेशा positive सोचिये और बोलिये।

अब मैं आपको मेरा Law Of Attraction का experiment बताता हूँ। यह बात है साल 2018. मैं एक बार पहले भी Best Employee का Award जीत चूका था लेकिन मुझे यह फिर से जीतना था। तो मैंने Law Of Attraction के हिसाब से काम करना शुरू किया। मैंने इस तरह से behave किया जैसे मैं वो Award already जीत चूका हूँ, यहाँ तक की मैंने अपनी desk पर जगह बनायीं और imagine किया की मेरी Best Employee की Trophy वहां रखी है और बस फिर क्या उस साल मैंने वो award जीत लिया। ये मेरा खुद का आज़माया हुआ तरीका है इसलिए मैं आपसे कहता हूँ की इसे करके देखे। इसमें कोई हर्ज़ नहीं है, बस एक बात का ध्यान रखियेकी कुछ भी नकारात्मक यानि negative मत सोचिये।

Law Of Attraction Follow करने का तरीका –

  • जो चीज़ आपको चाहिए उसे साफ़ शब्दों में मांगिये। जैसे – मुझे London में एक बड़ा अपार्टमेंट खरीदना है।
  • इसके बाद आप अपनी इच्छा में यकीन कीजिये। जैसे – Imagine कीजिये आपका अपार्टमेंट London में किस area में है , कितना बड़ा है , दीवारों पर कौन सा रंग है वगैरह।
  • इंतज़ार कीजिये और अपनी इच्छा को कमज़ोर मत होने दीजिये।

Note – Law Of Attraction का यह मतलब नहीं है की आप मेहनत न करें।

यही है वो Trophy !!!

Advertisements

Leave a Reply